Shraman Sanghiya Sadhviji

Search Shraman Sanghiya Sadhviji

Feedback/Report Error

Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input

New Registration for Sadhu / Sadhvi

Real comments and advice in Essayinspect. Home; Reviews; Contact us; We have collected some of the see urls featuring detailed Register

Sadhvi Shri Sita Ji Maharaaj(साध्वी श्री सीता जी म.सा.)

Brief Introduction

सामान्य विवरण
Sadhvi Shri Sita Ji Maharaaj साध्वी श्री सीता जी म.सा.
 
गुजरावाला


पाकिस्तान तपोमूर्ति महासती श्री सौभाग्यवती जी म.सा.
त्यागमूर्ति महासती श्री धनदेवी जी म.सा. श्रमण संघ वर्तमान आचार्य, मैत्री के मसीहा, ध्यानयोगी डॉ. श्री शिवमुनि जी म.सा.
4 वर्ष वैशाख शुक्ला त्रयोदशी सन 1938 को,दिल्ली शहर में
गणि श्री उदयचन्द जी म.सा. महासती श्री सावित्रीदेवी जी म.सा., महासती श्री महिन्द्रा जी म.सा., वैराग्यशीला महासती श्री शिमला जी म.सा.
तपसिह योगिनी उग्रतपस्विनी महासती श्री सुमित्रा जी म.सा., तपसिह योगिनी दीप्ततपस्विनी महासती श्री सन्तोष जी म.सा., तपस्विनी महासती श्री पुष्पा जी म.सा., तपस्विनी महासती श्री आशा जी म.सा., तपस्विनी महासती श्री दर्शना जी म.सा. कण्ठ कोकिला, उपप्रवर्तिनी
32 आगमों का अध्ययन कौमुदी, सिद्धान्त कौमुदी इत्यादि


सीता संगीत सुधा, सीता स्वर लहरी, गौतम पृच्छा इत्यादि
हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश    

  

  चातुर्मास विवरण तालिका

1938 - दिल्ली
1939 -
1940 -
1941 -
1942 -
1943 -
1944 -
1945 -
1946 -
1947 -
1948 -
1949 -
1950 -
1951 -
1952 -
1953 -
1954 -
1955 -
1956 -
1957 -
1958 -
1959 -
1960 -
1961 -
1962 -
1963 -
1964 -
1965 -
1966 -
1967 -
1968 -
1969 -
1970 -
1971 -
1972 -
1973 -
1974 -
1975 -
1976 -
1977 -
1978 -
1979 -
1980 -
1981 -
1982 -
1983 -
1984 -
1985 -
1986 -
1987 -
1988 -
1989 -
1990 -
1991 -
1992 -
1993 -
1994 -
1995 -
1996 -
1997 -
1998 -
1999 -
2000 -
2001 -
2002 -
2003 -
2004 -
2005 -
2006 -
2007 -
2008 -
2009 -
2010 -
2011 -
2012 -
2013 -
2014 -
2015 -
2016 -
2017 -

बड़े गुरुजी को पूरे चातुर्मास ध्यान में नहीं

   

 

  आपकी प्रेरणा से संचालित संस्था का नाम, संस्था के पदाधिकारी का नाम, पद, शिक्षा, आयु व पता
   
   
गुरुणी जी की प्रेरणा से सिलाई सेंटर खुले थे   
मोगा मण्डी, फिल्लौर, लुधियाना में  
   
   

   

अन्य विवरण
आपकी चरण धूलि से डिस्क पैन, सखाई पैन और कई - कई महीने, बिस्तर पर पड़े रहने वाले भाई - बहन ठीक हो जाते है। व्रत, एकासना, आयम्बिल इत्यादि छोटी छोटी तपस्या
श्री सीता देवी जी जैन श्री मान कर्मचन्द जी जैन
श्री मति रामप्यारी जी जैन श्री चैनलाल जी जैन

इनका वंश बरड़ था इस वंश मे काला वस्त्र धारण नहीं किया जाता था।



   

 

  धर्म के माता पिता का नाम व पता

 

 
           

 

  आपकी सेवा में रहने वाले सेवक कि जानकारी
 

 

          

 

  साधु साध्वी का संदेश

आप जैन संस्कृति के प्रचार प्रसार के लिए सदैव समुघत रहती है जन - जन को धर्म प्रेरणा देती रहती है। दीन - गरीबों की सेवा के लिए प्रेरित करना व धर्म संस्कार देना।