Shraman Sanghiya Sadhviji

Search Shraman Sanghiya Sadhviji

Feedback/Report Error

Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input

New Registration for Sadhu / Sadhvi

Writing a research paper will take you only 2 minutes with our help. Can't believe it? Let our A Level Essay Writing prove it! Register

Sadhvi Shri Shaili Ji Maharaaj(साध्वी श्री शैली जी म.सा.)

Brief Introduction

सामान्य विवरण
Sadhvi Shri Shaili Ji Maharaaj साध्वी श्री शैली जी म.सा.
25-11-1990
 
कैलाश नगर


दिल्ली डॉ श्री शिवा जी म.सा.
सरलात्मा श्री अजय कुमारी जी म.सा. पंजाब परम्परा, श्रमण संघ के आचार्य सम्राट पूज्य डॉ श्री शिव मुनि जी म.सा.
3 वर्ष 6 माह 01-02-2007, होशियारपुर, पंजाब
आचार्य सम्राट पूज्य डॉ श्री शिव मुनि जी म.सा.


दसवैकालिक सूत्र, उतराध्ययन सूत्र, कल्प सूत्र, थोकड़े इत्यादि एम.ए., जैन दर्शन



दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश    

Master Thesis Proposal Literature Review.Cheap websites that write papers for you.Essay Writer Typer.Buy persuasive essay online | professional american writers.Custom papers   

  चातुर्मास विवरण तालिका

Resume templates by professional writers with sample layouts and examples of resume cover letters written by Term Paper Tungkol Sa Kalikasan in Australia 2007 - वल्लभ नगर, दिल्ली
2008 - करोल बाग, दिल्ली
2009 - विवेक विहार, दिल्ली
2010 - अहिंसा विहार, दिल्ली
2011 - प्रशांत विहार, दिल्ली
2012 - नोएडा
2013 - करोल बाग, दिल्ली
2014 - अहिंसा विहार, दिल्ली
2015 - भीलवाड़ा, राजस्थान
2016 -
2017 -

   

 

  आपकी प्रेरणा से संचालित संस्था का नाम, संस्था के पदाधिकारी का नाम, पद, शिक्षा, आयु व पता
   
   
   
   
   
   

   

अन्य विवरण

45 आयम्बिल, अठाई, तेले, 3 वर्ष से उपवास वर्षितप
श्री लवली जी जैन श्री मुकेश कुमार जी जैन
श्री मति गीता जी जैन श्री शुभम जी
श्री शिवानी जी धार्मिक, विनयवान, श्रद्धाशील
श्री मुकेश जी जैन
773/1 पीर वाली गली, झान्सा रोड़, कुरुक्षेत्र
9253837172
shivanijain@gmail.com    

 

  धर्म के माता पिता का नाम व पता

श्री मान जिनेन्द्र पाल जी जैन
श्री मति त्रिशला जी जैन

9253837172
           

 

  आपकी सेवा में रहने वाले सेवक कि जानकारी
 

9210108872

          

 

  साधु साध्वी का संदेश

जीवन में यदि विनय का गुण आ गया तो सब सद्गुण स्वयं आ जाएगें ।
प्रतिदिन ध्यान करो ।