Shraman Sanghiya Sadhviji

Search Shraman Sanghiya Sadhviji

Feedback/Report Error

Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input

New Registration for Sadhu / Sadhvi

phd thesis on bilingualism http://blog.annisaaconceptsltd.com/phd-application-essay-education/ order of lab report essay can money buy everything Register

Sadhvi Shri Mahimashri Ji Maharaaj(साध्वी श्री महिमाश्री जी म.सा.)

Brief Introduction

सामान्य विवरण
Sadhvi Shri Mahimashri Ji Maharaaj साध्वी श्री महिमाश्री जी म.सा.
10-04-1982
 
पुणे

पुणे
महाराष्ट्र गणाधिश ( आचार्य ) श्री उमेशमुनि जी म.सा., श्री चेतनाश्री जी म.सा.
प्रवर्तक श्री सूर्यमुनि जी म.सा., श्री कुमुदलता जी म.सा. धर्मदास परम्परा, पूज्य श्री धर्मदास जी म.सा.
4 वर्ष 21-06-1999, नासिक रोड़
श्री विचक्षणमुनि जी म.सा.

मधुर गायिका
दसवैकालिक सूत्र, उतराध्ययन सूत्र, नंदीसूत्र,100 थोकड़े धार्मिक परिक्ष बोर्ड से - विशारद - प्रथम व द्वितीय खण्ड परीक्षा । तत्वार्थ सूत्र बारहवीं



महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, आन्ध्र प्रदेश    

 

  चातुर्मास विवरण तालिका

1999 - आश्वी
2000 - सांता क्रूज, मुम्बई
2001 - चालीसगाँव
2002 - हैदराबाद
2003 - जामखेड़
2004 - इगतपूरी
2005 - नासिक
2006 - सुखसागर नगर, पुना
2007 - खेरोदा, उदयपुर
2008 - रतलाम, मध्य प्रदेश
2009 - सादडी सदन, पुना
2010 - कन्नज, पुना
2011 - इंदौर
2012 - खाचरौद
2013 - राजगढ़
2014 - जालोर
2015 -
2016 -
2017 -

   

 

  आपकी प्रेरणा से संचालित संस्था का नाम, संस्था के पदाधिकारी का नाम, पद, शिक्षा, आयु व पता
   
   
   
   
   
   

  

अन्य विवरण
जैन धर्म के प्रति द्दढ़ आस्था, संयम में रुचि, स्वाध्याय कंठस्थ में रुचि, धर्म के प्रति द्दढ़ निष्ठा अठाई 2 बार, मासखमण, 9 उपवास, एकासन से वर्षितप, पचौला 2 बार
श्री आरती ( श्रद्वा ) जी श्री मान मोहनलाल जी देवीचंद जी बोरा
श्री मंगलप्रभा जी म.सा. श्री प्रकाश जी
श्री सोनल जी कोठारी, साध्वी श्री चेतनाश्री जी म.सा. सेवाभावी, उदारहदय, धार्मिक, सुसंस्कारी, सामाजिक क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान
श्री प्रकाश मोहनलाल जी बोरा
पंचम डेवलपर्स, आ.न. 42, पंचमी होटल के पास, "लोटस कोर्ट" पुणे सतारा रोड़, पो. पुणे, महाराष्ट्र, 411009
9326956789-9890562332

   

  

  धर्म के माता पिता का नाम व पता

श्री मान शांतिलाल जी दुग्गड़
श्री मति चन्द्रकला बेन जी दुग्गड़

 
     

 

  आपकी सेवा में रहने वाले सेवक कि जानकारी
   
     

 

  साधु साध्वी का संदेश

प्रसन्न रहना, अपने लक्ष्य के प्रति एकनिष्ठ रहना ।
प्रतिकुलता को अनुकूलता में बदलने का प्रयास हो ।