Shraman Sanghiya Sadhviji

Search Shraman Sanghiya Sadhviji

Feedback/Report Error

Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input

New Registration for Sadhu / Sadhvi

right my paper http://www.motoscarlos.es/?new-england-institute-art-admission-essay Violence custom service representative resume essay evaluation service Register

Sadhvi Shri Kalplta Ji Maharaaj(साध्वी श्री कल्पलता जी म.सा.)

Brief Introduction

  सामान्य विवरण
Sadhvi Shri Kalplta Ji Maharaaj साध्वी श्री कल्पलता जी म.सा.
10-06-1955
 
मेघनगर
थांदला झाबुआ
मध्य प्रदेश मालव केसरी श्री सौभाग्यमल जी म.सा., पूज्य श्री आदर्शज्योति जी म.सा.
पूज्य श्री किशनलाल म.सा., पूज्य श्री ललितकुँवर जी म.सा. धर्मदास परम्परा
4 वर्ष 02-02-1977, माघ सुदि तेरस, संवत 2032
पूज्य मालव केसरी श्री सौभाग्यमल जी म.सा.

तरुण तपस्विनी, सेवानिष्ठ
धार्मिक परिक्षा बोर्ड - अहमद नगर, शास्त्री बारहवीं



राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र    

 

  चातुर्मास विवरण तालिका

1977 - धूलिया
1978 - उदयपुर
1979 -
1980 - भीलवाड़ा
1981 -
1982 -
1983 -
1984 - नासिक
1985 -
1986 -
1987 - पुना
1988 - भांडूप, मुम्बई
1989 -
1990 -
1991 - इंदौर
1992 - मंदसौर
1993 -
1994 -
1995 -
1996 -
1997 -
1998 -
1999 -
2000 -
2001 -
2002 - सूरत
2003 -
2004 -
2005 -
2006 -
2007 -
2008 -
2009 -
2010 -
2011 -
2012 -
2013 -
2014 -
2015 -
2016 -
2017 -

   

 

  आपकी प्रेरणा से संचालित संस्था का नाम, संस्था के पदाधिकारी का नाम, पद, शिक्षा, आयु व पता
   
   
   
   
   
   

  

अन्य विवरण
सेवानिष्ठ, प्रबल पुरुषार्थी, विनयशील 13 ओलीजी, 13 मासखमण, 41 उपवास, धर्मचक्र, सिद्धितप, 4 वर्षितप, 5 पचोले लगातार, 13 तेले, 12 बेले, चोले पारणा, 500 आयम्बिल
श्री पुष्पा सागरमल जी भण्डारी श्री मान सागरमल जी भण्डारी
श्री मति सुगनकुँवर जी भण्डारी श्री सुजानमाल जी
श्री सुशीला जी, श्री रेखा जी, श्री लीला जी सुसंस्कारी, धार्मिक, दानवीर
श्री आशीष सुजानमल जी भण्डारी
7, स्ट्रेट बैंक कॉलोनी, आदर्श नगर, पो. जलगांव, महाराष्ट्र
9422775792

   

  

  धर्म के माता पिता का नाम व पता

श्री मान सूरजमल जी तलेरा
श्री मति लीलाबेन जी तलेरा
मंदसौर

    
             

 

  आपकी सेवा में रहने वाले सेवक कि जानकारी
      
          

 

  साधु साध्वी का संदेश
व्यवहार कुशलता, मधुर व्यवहार से, प्रसन्नता से इस जीवन को आनन्दमय बनाया जा सकता ।