Shraman Sanghiya Sadhviji

Search Shraman Sanghiya Sadhviji

Feedback/Report Error

Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input

New Registration for Sadhu / Sadhvi

enter online - Quick and reliable writings from industry top agency. Use from our affordable custom dissertation writing services and Register

Sadhvi Dr. Shri Sunita Ji Maharaaj (साध्वी डॉ श्री सुनीता जी म.सा.)

Brief Introduction

सामान्य विवरण
Sadhvi Dr. Shri Sunita Ji Maharaaj साध्वी डॉ श्री सुनीता जी म.सा.
13-06-1960
 
मोगा
मोगा मोगा
पंजाब तप सिद्ध योगिनी, सरलात्मा गुरुणी श्री सुमित्रा जी म.सा.
वैराग्यशीला महासाध्वी श्री शिमला जी म.सा. पंजाब परम्परा, चमत्कारिणी महासाध्वी श्री चन्दा जी म.सा., संयम समेरु, कंठ कोकिला, उपप्रवर्तिनी महासाध्वी श्री सीता जी म.सा.
1 वर्ष 6 माह 16-04-1977, मोगा
शांतात्मा, उत्तर भारतीय प्रवर्तक उपाध्याय श्रमण श्री फूलचन्द जी म.सा. साध्वी डॉ श्री सुप्रिया जी म.सा., साध्वी डॉ श्री सुरभि जी म.सा., साध्वी श्री साक्षी जी म.सा.
साध्वी श्री सुनिधि जी म.सा., साध्वी श्री सुदीप्ति जी म.सा., साध्वी श्री सुविधि जी म.सा., साध्वी श्री प्रियांशी जी म.सा. तप्त तपस्विनी, तप रत्नेश्वरी, तप चक्रेश्वरी, तप सिद्धेश्वरी, तप विभूति, पंजाब सिंघवी, प्रवचन प्रभाविका, श्रमणी सूर्या, तप कौमुदी आदि
बड़ी सिद्धान्त कौमुदी, 29 अगमों का अध्ययन, जैनेत्तर दर्शन का अध्ययन आदि डबल एम.ए. संस्कृत, एम.ए. गोल्ड मैडलिस्ट, रिलीजन एम.ए., पी.एच.डी.
1987 पंजाबी विश्वविधालय पटियाला "आचाराङ्ग सूत्र" का एक आलोचनात्मक अध्ययन
1. आचारांग सूत्र का आलोचनात्मक अध्ययन
2. जम्मू से कन्याकुमारी विहार यात्रा हमारी
पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, तमिलनाडु, आन्ध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, दिल्ली, जम्मू एड कश्मीर से कन्याकुमारी तक    
चातुर्मास विवरण तालिका
1977 - राजपुरा
1978 - रायकोट
1979 - नालागढ़
1980 - होशियारपुर
1981 - कुरुक्षेत्र
1982 - संगरूर
1983 - अम्बालाकैंट
1984 - गोबिन्दगढ़
1985 - घूरी
1986 - पटियाला
1987 - पुराना पंचकूला
1988 - अहमदगढ़
1989 - मानसा
1990 - भटिण्डा
1991 - मलोट
1992 - मालेर कोटला
1993 - नाभा
1994 - नया पंचकुला
1995 - जम्मू तवी
1996 - मोगा
1997 - फरीदकोट
1998 - लुधियाना
1999 - अहमदगढ़
2000 - फगवाड़ा
2001 - बहादुरगढ़
2002 - बंगा
2003 - मालेर कोटला
2004 - अम्बाला
2005 - मानसा
2006 - महावीर भवन, इंदौर
2007 - चिकपेठ, बैंगलोर
2008 - खार, मुम्बई
2009 - कुम्हारवाड़ा, उदयपुर
2010 - अम्बालाकैंट
2011 - रोपड़
2012 - लुधियाना
2013 - लुधियाना
2014 - मोगा
2015 - सैक्टर 5, उदयपुर
2016 -
2017 -
   

The Fastest Online Collection Essays George Orwell Online. Trusted By 3000+ Corporate Clients. Start in 30min. 12 hours delivery. From 29 $/hr.  

  आपकी प्रेरणा से संचालित संस्था का नाम, संस्था के पदाधिकारी का नाम, पद, शिक्षा, आयु व पता
   
   
   
   
   
   
अन्य विवरण

2 मासखमण - एक चौविहारी - एक तिविहारी, 108 अठाई तप - 80 अठाई चौविहार - 28 अठाई तिविहार, वर्षितप, ओली तप, 117 उपवास, 28 वर्षो से लगातार एकासना तप, सभी तपस्या के पारणे एकासना तप से होते है।
श्री सुनीता जी जैन श्री मान जगदीशलाल जी जैन
श्री मति प्रकाशवती जी जैन श्री चिमन जी, श्री सुखमाल जी, श्री कमल जी
श्री निर्मला जी, श्री सुपुमा जी, श्री रीटा जी ओसवाल वंश, गौत्र नाहर, धार्मिक जीवन से ओतप्रोत सेवाभावी, दान पुण्य के कार्य करने वाला परोपकार एवं समाज के कार्य करने वाला, तप एवं ध्यान साधना में जीवन जीने वाला परिवार है।
श्री सुखमाल जी जैन
A 14/2, 3rd फ्लोर, राणा प्रताप बाग, दिल्ली -7
9811220411

   

http://eurobp.com/?change-login-wallpaper-background-terminal-services-remote-desktop - Proposals, essays and academic papers of top quality. leave behind those sleepless nights working on your report with our  

  धर्म के माता पिता का नाम व पता
        
             

 

  आपकी सेवा में रहने वाले सेवक कि जानकारी
  8573951885
        

 

  साधु साध्वी का संदेश
साधु - साध्वीयों की निस्वार्थ सेवा, युवा बालको व बहन - भाइयों में संस्कार भरना, ध्यान साधना, जप तप से अपनी आत्मा को भावित करना।