Shraman Sangh Muniji

Search Shraman Sangh Muniji

Feedback/Report Error

Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input

New Registration for Sadhu / Sadhvi

In this episode, I talk about how to Phd Thesis On Cement Industry for your non-fiction Kindle book that will cost you less than

.01 per word. Sample Job Register

Shri Arihant Muni Ji Maharaaj(श्री अरिहंत मुनि जी म.सा.)

Brief Introduction

सामान्य विवरण
Shri Arihant Muni Ji Maharaaj श्री अरिहंत मुनि जी म.सा.
20-06-1953 इंदौर

इंदौर
मध्य प्रदेश पूज्य प्रवर्तक श्री रमेश मुनि जी म.सा.
पूज्य श्री प्रतापमल जी म.सा. दिवाकर सम्प्रदाय, पूज्य प्रवर्तक श्री रमेश मुनि जी म.सा.
9 माह 02-12-2009, डॉ. वी.सी. जैन फार्म हाउस, बड़ो दियाखान सावेर, इंदौर
पूज्य प्रवर्तक श्री रमेश मुनि जी म.सा.

तपस्वी रत्न
सामायिक, प्रतिक्रमण, उत्तराध्यायन, दशवैकालिक, अंतगड़दशा, सुख विपाक, श्री मद रायचन्द्र जी ग्रन्थ आदि बी. कॉम फ़ाइनल



राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र    

 

  चातुर्मास विवरण तालिका

2010 - कोटा
2011 - बारडोली
2012 - पिपल गांव बसवन्त
2013 - पुना
2014 - सवाई माधोपुर
2015 -
2016 -
2017 -

   

 

  आपकी प्रेरणा से संचालित संस्था का नाम, संस्था के पदाधिकारी का नाम, पद, शिक्षा, आयु व पता
   
   
   
   
   
   

 

अन्य विवरण
( सांसरिक जीवन में ) निरन्तर 47 वर्षो तक रविवारीय आयम्बिल तप, 1,2,3,5,8,9,11 उपवास, आनन्द बाबा से चाय का त्याग 52 वर्षो से वर्तमान में भी उपवास और त्याग चालू है । 24 तीर्थकर कल्याण तप, तीर्थकर गोत्र तप, अष्ट सुदन तप (11 बार ), नव पद ओलीजी ( 11 बार ), निरन्तर 5 वर्षो से वर्षितप, उपवास में मौन साधना व 5 तिथियों पर पारने सहित एकासना वर्तमान मे भी चालू है ।
श्री रमेशचन्द्र जी जैन श्री मान लक्ष्मीनारायण जी जैन
श्री मति स्व. बदामबाई उर्फ कमला बाई जी जैन श्री मुकेश जी, श्री दिलीप जी
श्री मति मुन्नी जी, श्री मति शोभा जी, श्री मति स्व. सुशीला जी धार्मिक, सामाजिक, व्यापारिक
श्री लक्ष्मीनारायण जी जैन
10 जुना तुकों गंज, हेमिल्टन रोड़, तिलक पथ चौराहे के पास, इंदौर, मध्य प्रदेश
9827327401
mayankjaingts5360@gmail.com    

 

  धर्म के माता पिता का नाम व पता

श्री मान लक्ष्मीनारायण जी जैन
श्री मति बदामबाई जी जैन

9827327401
mayankjaingts5360@gmail.com    

 

  आपकी सेवा में रहने वाले सेवक कि जानकारी
   
ई मेल      

 

  साधु साध्वी का संदेश

जैन धर्म जो कि वर्तमान समय में वैज्ञानिक आधार पर सटीक, प्रासंगिक व मान्यता प्राप्त है ।
अत: इसके द्वारा सांसरिक जीवों को सच्चे सच्चे सुख व मोक्ष प्राप्ति कि ओर निरन्तर अग्रसर करने बाबत अनवरत प्रयासरत है।