Shraman Sangh Muniji

Search Shraman Sangh Muniji

Feedback/Report Error

Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input
Invalid Input

New Registration for Sadhu / Sadhvi

click - Papers and essays at most attractive prices. 100% non-plagiarism guarantee of unique essays & papers. Benefit from our Register

Shri Amrit Muni Ji Maharaaj(श्री अमृत मुनि जी म.सा.)

Brief Introduction

सामान्य विवरण
Shri Amrit Muni Ji Maharaaj श्री अमृत मुनि जी म.सा.
29-05-1961 सारण
मारवाड़ जंक्शन पाली
राजस्थान मरुधर केसरी प्रवर्तक 1008 पूज्य गुरुदेव श्री मिश्रीमल जी म.सा., नेश्राय सलाहकार उपप्रवर्तक पूज्य श्री सुकनमल जी म.सा.
श्रमण सूर्य दिव्य विभूति प्रवर्तक 1008 पूज्य गुरुदेव मरुधर केसरी श्री मिश्रीमल जी म.सा. आचार्य सम्राट 1008 श्री रघुनाथमल जी म.सा., प्रवर्तक पूज्य गुरुदेव मरुधर केसरी श्री मिश्रीमल जी म.सा., प्रवर्तक लोकमान्य सन्त श्री रुपचन्द जी म.सा."रजत"
4 वर्ष 15-05-1975, अक्षय तृतीया विक्रम संवत 2032, पडांगा ( विजयनगर )
पूज्य गुरुदेव मरुधर केसरी प्रवर्तक 1008 श्री मिश्रीमल जी म.सा. युवामनीषी डॉ. श्री दीपेश मुनि जी म.सा."उजाला", बालयोगी श्री अखिलेश मुनि जी म.सा.

तपस्वीरत्न, ज्योतिष सम्राट, शासन प्रभावक, तेजस्वी साधक आदि
जैनागम, ज्योतिष, न्याय, व्याकरण, छन्द, संस्कृत, प्राकृत, अंग्रेजी, राजस्थानी, हिन्दी आदि तथा 32 आगमों की वाचनी जैन सिद्धान्ताचार्य


कथा, उपन्यास, तार्किक, ज्योतिष, काव्य, स्वाध्यायी आदि विभिन्न विषयों पर 51 पुस्तकों का सृजन एवं लेखन
राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आन्ध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तर भारत आदि विभिन्न प्रान्त    

 

  चातुर्मास विवरण तालिका

 

   

 

  आपकी प्रेरणा से संचालित संस्था का नाम, संस्था के पदाधिकारी का नाम, पद, शिक्षा, आयु व पता
गौशाला, चिकित्सालय, विधालय, छात्रावास, अनाथाश्रम, जैन स्थानक आदि 25 संस्थान गतिमान है ।  
   
   
   
   
   

 

अन्य विवरण
लगभग 1100 व्यक्तियों को प्रतिक्रमण आदि धार्मिक ज्ञान कराया । चण्डावल, जिला पाली, राजस्थान में बलि प्रथा बंद करवाई । 25000 से अधिक लोगों को सप्तकुव्यसन का त्याग कराया । साधु, साध्वी, वैरागी, वैरागन आदि को आगम वाचनी एवं परिपूर्ण सहयोग 8 वर्षितप, 9 मासखमण, 63 दिवसीय तपाराधना, 35 वर्ष से दीपावली पर्व पर मौन तेला, निराहार आदि
श्री सम्पतराज जी गुगलिया ( जैन ) श्री मान जुगराज जी गुगलिया
श्री मति प्यारीबाई जी गुगलिया ( वर्तमान मे स्वाध्याय प्रेमी सरलमना महासती श्री पुष्पवती जी म.सा. )( माताजी म.सा.) श्री सूर्य कुमार जी
मरुधरा शिरोमणि संघहिताशु साध्वीरत्ना श्री राजमती जी म.सा. ओसवाल गुगलिया गौत्र - समय समय पर असहायों की सहायता
श्री सूर्य कुमार जी जैन
अमृत मार्केटिंग, 363 दत्तवाड़ी, साई वाशिंग सेंटर, म्हसोबा चौक के पास, पुना 411030
9890182011, 9923424292, 9923424346

   

 

  धर्म के माता पिता का नाम व पता

श्री मान रतनलाल जी चत्तर
श्री मति उमरावबाई जी चत्तर
पडांगा, ब्यावर

9414395957
     

 

  आपकी सेवा में रहने वाले सेवक कि जानकारी
  7568654599, 9414609635
ई मेल      

 

  साधु साध्वी का संदेश

शुद्ध भाव से सबका विकास हो, सदबुद्धि व समर्पण के साथ संघ की सेवा करें ।
सबसे गुणग्रहण करें एवं अवगुण का विसर्जन करें ।